Connect with us

लुधियाना न्यूज़

फेफड़ों की समस्या को नजरअंदाज करना पड़ सकता है भारी, इन चार चीजों से दूरी बना करें बचाव

Published

on

क्रोनिक ऑब्सट्रक्टिव पल्मोनरी डिज़ीज़ (सीओपीडी) कोई एक बीमारी नहीं, बल्कि एक सामूहिक शब्द है, जो फेफड़ों की क्रोनिक बीमारियों के लिए इस्तेमाल होता है, जिनसे फेफड़ों में हवा के प्रवाह में रुकावट आती है। सीओपीडी के सबसे आम लक्षण सांस फूलना हैं या फिर ‘हवा की जरूरत’ या क्रोनिक खांसी हैं। सीओपीडी केवल ‘धूम्रपान करने वाले की खांसी’ नहीं, बल्कि फेफड़ों की अंडर-डायग्नोज़्ड, जानलेवा बीमारी है, जिसके बढऩे से मौत भी हो सकती है। 2016 ग्लोबल बर्डन ऑफ डिज़ीज़ अध्ययन के अनुसार, सीओपीडी के मामलों में भारत चीन के बाद दुनिया में दूसरे स्थान पर है, लेकिन जब सीओपीडी से होने वाली मौतों की बात आती है, तो भारत चीन को पछाड़ पहले स्थान पर आ जाता है।

भारत में सीओपीडी के 55 मिलियन से ज्यादा मरीज
दीप हास्पिटल के डायरेक्टर व हैड पल्मोनोलाजी डा. विकेश गुप्ता ने कहा कि भारत में सीओपीडी के 55 मिलियन से ज्यादा मरीज हैं, इसलिए यह दुनिया की सीओपीडी कैपिटल बन गया है। रिस्क फैक्टर्स जैसे धूम्रपान, औद्योगिक धुएं का एक्सपोजऱ, चूल्हे के लंबे समय तक उपयोग से सीओपीडी की समस्या हो सकती है, जिसे लोग फेफड़ों के अटैक के रूप में जानते हैं। भारत में होने वाली मौतों का एक बड़ा कारण होने के बावजूद आम जनता को सीओपीडी के बारे में बहुत कम जानकारी है।

उन्होंने कहा कि फेफड़ों के अटैक के बाद जब तक मरीज मेरे पास आता है, तब तक उसके फेफड़े बहुत ज्यादा क्षतिग्रस्त हो चुके होते हैं। समय पर निदान से न केवल बीमारी को बेहतर तरीके से नियंत्रित करने में मदद मिलती है, बल्कि मरीज एवं देखभाल करने वालों के जीवन की गुणवत्ता में भी सुधार होता है। उन्होंने कहा कि फेफड़ों का चेक-अप, जैसे बीपी एवं शुगर चेक हमारे देश की आम जनता को ध्यान में रखना चाहिए। हमारे जैसे विकासशील देश में प्रदूषण का स्तर ज्यादा है, इसलिए लोगों को रिक्स फैक्टर्स का एक्सपोजऱ भी ज्यादा है, जिससे आगे चलकर फेफड़ों का अटैक हो सकता है।

गंभीर अटैक की स्थिति में मरीज को अस्पताल में भर्ती कराना जरूरी
डा. विकेश गुप्ता ने कहा कि इन्हेलर एवं इसका डिलीवरी सिस्टम रोज बढ़ते सीओपीडी मरीजों की संख्या को देखते हुए पिछले सालों में विकसित हुआ है। स्पेसर युक्त इन्हेलर या फिर नया प्रस्तुत किया गया ब्रेथ एक्चुएटेड इन्हेलर आवश्यक दवाई आवश्यक खुराक में सीधे फेफड़ों तक पहुंचा हवा की नली को खोल सकता है और जलन को कम कर सकता है। उन्होंने कहा कि गंभीर अटैक की स्थिति में मरीज को अस्पताल में भर्ती कराना होगा। लेकिन मौजूदा प्रगति के साथ बीमारी को बढ़ने से रोकने के लिए काफी कुछ किया जा सकता है। समय पर निदान, सही इलाज, इलाज का पालन एवं बीमारी का नियमित आंकलन फेफड़ों के अटैक को नियंत्रण में रखने के लिए बहुत आवश्यक हैं।

सीओपीडी में फेफड़ों की क्षमता हाेती है प्रभावित
सीओपीडी में फेफड़ों की क्षमता एवं फेफड़ों का कार्य प्रभावित होता है। इसका निदान फेफड़ों के फंक्शन टेस्ट द्वारा होता है। फेफड़ों के फंक्शन टेस्ट का सबसे आम तरीका स्पाईरोमीट्री है। इसमें यह मापा जाता है कि आप स्पाईरोमीटर मशीन की मदद से अपने फेफड़ों से हवा को कितनी तेजी से और कितनी मात्रा में बाहर निकाल पाते हैं। अनेक डॉक्टर मानते हैं कि स्पाईरोमीट्री सीओपीडी के निदान का गोल्ड स्टैंडर्ड है, लेकिन यह नियमित तौर पर नहीं किया जाता एवं निदान डाक्टर के क्लिनिकल कौशल पर आधारित रहता है।

Source: jagran

Facebook Comments

Advertisement
Advertisement

Corona Updates

लुधियाना न्यूज़1 day ago

लुधियाना के DCP राजिंदर सिंह चीमा का हुआ निधन

पंजाब पुलिस में बतौर डीसीपी सेवाएं दे रहे राजेंद्र सिंह चीमा का सोमवार सुबह लुधियाना के डीएमसी अस्पताल में निधन...

लुधियाना न्यूज़1 day ago

लुधियाना में जज का रीडर बनकर तीन लाख की ठगी, सरकारी नौकरी का किया था वादा

सरकारी नौकरी लगाने का झांसा देकर तीन लाख रुपये की ठगी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ थाना सराभा नगर पुलिस...

स्वास्थ्य2 days ago

टमाटर खाना ज्यादा पसंद करते हैं तो हो जाइए सावधान, जानिए इसके 6 नुकसान

टमाटर हमारे खाने का अहम हिस्सा है, इसके बिना हमारे खाने का स्वाद अधूरा रहता है। टमाटर पोष्क तत्वों से...

बॉलीवुड2 days ago

बंद हो जाएगा द कपिल शर्मा शो, इस वजह से मेकर्स ने लिया चौंकाने वाला फैसला

सोनी टीवी का सबसे पसंदीदा शो द कपिल शर्मा शो करीब पिछले दो साल से लोगों के दिलों पर राज...

लुधियाना न्यूज़2 days ago

पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी लुधियाना के दाे वैज्ञानिक कोरोना पाजिटिव

पंजाब एग्रीकल्चर यूनिवर्सिटी (PAU) लुधियाना के दाे वैज्ञानिक कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। पीएयू के कॉलेज ऑफ हार्टिकल्चर के फ्रूट...

पंजाब2 days ago

पंजाब से हजारों ट्रैक्टर दिल्ली रवाना, महिलाएं, बुजुर्ग व बच्चे भी शामिल

केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीन कृषि कानूनों के विरोध में गणतंत्र दिवस पर नई दिल्ली में होने वाली ट्रैक्टर...

पंजाब2 days ago

पंजाब शिक्षा बोर्ड ने बढ़ाई छात्राें की परेशानी, नया विषय लागू कर वसूली फीस, किताब नहीं जारी

पंजाब स्कूल शिक्षा बोर्ड के अजीबोगरीब कारनामे हैं। बोर्ड ने पहली कक्षा से लेकर बारहवीं कक्षा तक के विद्यार्थियों में...

पंजाब2 days ago

ट्रांसमिशन लास राेकने की तैयारी, पंजाब सरकार Night Tariff से इंडस्ट्री को कर सकती है बूस्ट

पंजाब सरकार की ओर से सत्ता में आने से पूर्व इंडस्ट्री को पांच रुपये प्रति युनिट बिजली देने का वायदा...

पंजाब2 days ago

डेढ़ माह में 90 साइबर ठग नामजद, दूसरे राज्यों से तालमेल की कमी से नहीं पकड़े जाते आरोपी

साइबर ठगों के खिलाफ सख्त रवैया दिखाते हुए लुधियाना पुलिस ने डेढ़ महीने में ठगी के 43 पर्चे दर्ज कर...

पंजाब2 days ago

बोर्ड एग्जाम के लिए 5वीं तक का हर स्कूल होगा परीक्षा केंद्र

कोरोना काल के दौरान ऑफलाइन बोर्ड एग्जाम्स करवाए जाने की तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। सीबीएसई द्वारा बोर्ड एग्जाम्स की...

लुधियाना न्यूज़2 days ago

बेकाबू कार चालक ने कई वाहनों-राहगीरों को मारी टक्कर, लोगों ने दबोचा

बेकाबू तेज रफ्तार कार चालक ने रविवार को कई वाहनों को चपेट में लेकर टक्कर मार दी। इस दौरान सड़क...

बॉलीवुड2 days ago

अभिनव के प्यार में राखी ने पार की पागलपन की हद, रुबीना को पसंद नहीं आई

बॉलीवुड अभिनेत्री राखी सावंत इन दिनों छोटे पर्दे के रियलिटी शो बिग बॉस 14 को लेकर काफी सुर्खियों में हैं।...

लुधियाना न्यूज़2 days ago

लुधियाना में 4 निजी अस्पतालों में हुआ टीकाकरण, डीएमसी में 401 वर्करों ने लगवाई वैक्सीन

कोरोना वैक्सीनेशन अभियान के आठवें दिन रविवार को जिले में चार जगहों पर टीकाकरण हुआ। इसमें डीएमसीएच, ओरिसन अस्पताल, दीप...

लुधियाना न्यूज़2 days ago

USA में रहने वाले NRI ने खुद को तलाकशुदा बता लुधियाना की महिला से रचाई दूसरी शादी

पहली पत्नी को तलाक दिए बगैर दूसरी शादी रचाने के आरोप में थाना वूमेन पुलिस ने एनआरआइ आरोपित के खिलाफ...

लुधियाना न्यूज़2 days ago

कृषि सुधार कानूनाें का विराेध, लुधियाना में ट्रैक्टर मार्च में पहुंचा 500 लग्जरी गाड़ियाें का काफिला

देशभर में किसानों के समर्थन में हर कोई अपने-अपने अंदाज में समर्थन कर रहा है। 26 जनवरी को दिल्ली में...

Trending