Connect with us

धर्म

रमज़ान में भारत के मुसलमानों के लिए गाइडलाइन

Published

on

रमज़ान भारत में 23 या 24 अप्रैल से शुरू होगा और एक महीने चलेगा. इसके बाद ईद का त्योहार मनाया जाता है जिसमें आमतौर पर लोग एक दूसरे के घर जाते हैं और गले मिलते हैं.

कोरोना के चलते भारत में लॉकडाउन है और देश भर की मस्जिदें बंद हैं

सऊदी अरब ने भी अपनी मस्जिदें बंद कर दीं, जिनमें दुनिया की सबसे पवित्र कही जाने वाली मक्का की मस्जिद भी शामिल है.

ईरान की इस्लामी सरकार ने कहा है कि अगर मुसलमान लॉकडाउन के कारण रमज़ान में रोज़े न रखना चाहें तो कोई हर्ज नहीं.

उधर भारत के ज़िम्मेदार मुसलमानों ने भी रमज़ान के महीने में लोगों से मस्जिद जा कर नमाज़ न पढ़ने की सलाह दी है.

लेकिन पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के इमामों और मौलवियों ने अपनी सरकार के ख़िलाफ़ बग़ावत कर दी और मौलवियों की एक काउन्सिल ने घोषणा की है कि मुसलमान रमज़ान के महीने में मस्जिदों में जाकर नमाज़ अदा करेंगे.

रमज़ान के लिए गाइडलाइन

भारत के बुद्धिजीवियों ने मौलवियों से सलाह करके भारतीय मुसलमानों के लिए कुछ गाइडलाइंस जारी की हैं, जिनमें से ख़ास ये हैं:

– मस्जिदों के बजाय मुसलमान अपने घरों में नमाज़ पढ़ें और लॉकडाउन में मस्जिदों से लाउडस्पीकर से अज़ान भी बंद कर दें.

– रोज़ा खोलने के बाद रात में पढ़ी जाने वाली नमाज़ और तरावीह (रोज़ा खोलने के बाद की एक अहम नमाज़) भी घरों में पढ़ें

– मस्जिदों में इफ़्तार पार्टी का आयोजन न करें

– रमज़ान की ख़रीदारी के लिए घरों से बाहर न निकलें

रमज़ान

आगे हैं चुनौतियां…

इसके अलावा देश भर की कई मस्जिदों से भी रमज़ान के महीने में लॉकडाउन का पालन करने की घोषणा की जा रही है.

दिल्ली के महारानी बाग़ इलाक़े में एक पुरानी मस्जिद है जिसके गेट पर ताला पड़ा है. इसकी देख-रेख करने वाले मुइनुल हक़ ने कहा कि मस्जिद बंद ज़रूर है लेकिन पाँचों वक़्त लाउडस्पीकर से अज़ान होती है जिसमें रमज़ान में नमाज़ घर पर पढ़ने की अपील की जा रही है.

मुसलमानों ने रमज़ान की तैयारियां शुरू कर दी हैं. लेकिन लोगों से बातें करके लगता है कि इस लॉकडाउन में वो खान-पान के बजाय रूहानी तैयारी में जुटे हैं.

हैदराबाद के एक व्यापारी फ़रीद इक़बाक के अनुसार ये समय मस्जिदों में भीड़ लगाने का नहीं है. ये लॉकडाउन हमें एक मौक़ा दे रही है घरों में पूरे ध्यान के साथ इबादत करने की.

रमज़ान का महीना भारतीय मुसलमानों के लिए एक बड़ी चुनौती होगी. ये मुसलमानों का सबसे पवित्र महीना है जिसके दौरान 30 दिनों तक मुसलमान मस्जिदों में नमाज़ और क़ुरान साथ पढ़ते हैं.

पूर्व मुख्य चुनाव आयुक्त एस वाई क़ुरैशी कहते हैं, “जो लोग आम दिनों में मस्जिदों में नहीं जाते, वो रमज़ान में ऐसा करते हैं. उन्हें लगता है कि इस मुबारक महीने में मस्जिद नहीं गए तो गुनाह होगा. इन गाइडलाइंस से उन्हें ये समझाने की कोशिश की गई है कि अगर मक्का (सऊदी अरब) में कुछ दिनों के लिए ताला लग सकता है, तो इसके सामने मस्जिद तो छोटी सी चीज़ है.”

रमज़ान

लॉकडाउन था तो गाइडलाइन क्यों?

मेरठ की एक मस्जिद के एक इमाम नजीब आलम के अनुसार रमज़ान इबादत का महीना है. इबादत घरों में भी की जा सकती है. लेकिन इस महीने में मस्जिदें ज़्यादा आबाद रहती हैं.

यूँ तो ये चुनौती दुनिया के हर उस मुस्लिम समुदाय के लिए है जहाँ लॉकडाउन लागू है लेकिन भारत के मुसलमानों और धर्म गुरुओं ने गाइडलाइन्स जारी करके इस बात को निश्चित करना चाहा है कि मुसलमान लॉकडाउन का पालन करें.

भारतीय अल्पसंख्यक आर्थिक विकास एजेंसी के अध्यक्ष एम जे ख़ान के कहा, “ये एक बहुत ही सराहनीय क़दम है और ये दर्शाता है कि कोरोनो वायरस फ़ैलने से बचाने के लिए समुदाय के नेता सार्थक क़दम उठा रहे हैं.”

हाल में दिल्ली के निज़ामुद्दीन इलाके में तब्लीग़ी जमात की धार्मिक सभा के दौरान हज़ारों लोग जुटे थे और इनमें से कई लोगों में कोरोना के मामले पाए गए थे.

इसके बाद मीडिया और सोशल मीडिया में भारत में फैल रहे कोरोना वायरस के मामलों का ज़िम्मेदार मुस्लिम समुदाय को ठहराया जाने लगा. जगह-जगह मुसलमानों के ख़िलाफ़ भेदभाव की शिकायतें आईं.

दिल्ली में मुसलमानों की संस्था इंडियन मुस्लिम्स फॉर इंडिया फ़र्स्ट ने मौलवियों-इमामों की निगरानी में ये गाइडलाइंस तैयार की हैं.

इस मुस्लिम संस्था के एक प्रसिद्ध सदस्य और आयकर विभाग के पूर्व कमिश्नर सैयद ज़फ़र महमूद कहते हैं, “भेदभाव करना इंसान की फ़ितरत में है. हाँ, मुसलमानों के साथ (कोरोना वायरस के फ़ैलाव को लेकर) भेदभाव हुआ है. हम सब को इस पर काबू पाने की ज़रूरत है और मुझे लगता है ये एक वक़्ती चीज़ है

देर से आया सरकार की ओर से बयान

मुस्लिम समुदाय काफ़ी सतर्क है. समुदाय के अंदर आम राय ये है कि तब्लीग़ी जमात ने इज्तेमा (धर्म सम्मलेन) का आयोजन करके एक भारी ग़लती की लेकिन इसको बहाना बनाकर पूरे समाज को बदनाम करने की कोशिश की गई है. वे इस बात पर हैरान हैं कि सरकारी तौर पर इसकी निंदा नहीं की गई.

शुरू में इस पर सरकारी बयान नहीं आया. लेकिन बाद में भारत सरकार ने एक बयान में कहा कि मुसलमानों को टारगेट न किया जाए.

और अब रविवार को ख़ुद प्रधानमंत्री मोदी ने यह बयान दिया कि “कोविड-19 जाति, धर्म, रंग, जाति, पंथ, भाषा या सीमाओं को नहीं देखता. इसलिए हमारी प्रतिक्रिया और आचरण में एकता और भाईचारे को प्रधानता दी जानी चाहिए. इस परिस्थिति में हम एक साथ हैं.”

इसके अलावा कर्नाटक के मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने कोरोना को लेकर मुसलमानों को बदनाम करने वालों के ख़िलाफ़ कार्रवाई की घोषणा भी की.

Facebook Comments

Advertisement

Corona Updates

लुधियाना न्यूज़10 hours ago

लुधियाना में पेट्रोल पंप कारिंदों पर युवकों ने किया हमला, CCTV में आरोपितों की हुई पहचान

जालंधर बाइपास स्थित पेट्रोल पंप कारिंदे से मामूली बात पर बहसबाजी के बाद दो युवक अपने साथियों समेत हथियारों से...

लुधियाना न्यूज़10 hours ago

लुधियाना के विधायक बैंस की मुश्किलें बढ़ीं, दुष्कर्म का आराेप लगाने वाली महिला बाेली….

महिला ने आराेप लगाया कि पुलिस ने जांच के नाम पर दो सप्ताह से ज्यादा का समय लगा दिया जबकि...

लुधियाना न्यूज़13 hours ago

लुधियाना में रेल डीजल शेड के पास कबाड़ में आतिशबाजी से लगी आग

रेलवे के डीजल शेड के पीछे पड़े कबाड़ में सोमवार की देर रात भीषण आग लग गई। आग इतनी फैल...

लुधियाना न्यूज़13 hours ago

कैबिनेट मंत्री आशु बाेले, बुड्ढा दरिया CM अमरिंदर सिंह का ड्रीम प्राेजेक्ट

बुड्ढा दरिया को साफ करना हमारी प्राथमिकता है। मुख्यमंत्री कैप्टन कैपटन अमरिंदर सिंह ने इस प्रोजेक्ट काे अपने हाथ में...

लुधियाना न्यूज़14 hours ago

लुधियाना में युवक ने पहले जहरीली दवा निगली फिर भाई को किया फोन कहा…

लुधियाना शहर के गांव कासाबाद के रहने वाले पप्पू कुमार ने जहरीली दवा निगल ली। उसकी इलाज के दौरान अस्पताल...

लुधियाना न्यूज़15 hours ago

लुधियाना में घर से निकली 17 साल की किशोरी को शादी का झांसा देकर अपहरण

शादी की नीयत से नाबालिग का अपहरण करने के आरोप में थाना जमालपुर पुलिस ने आरोपित युवक पर केस दर्ज...

लुधियाना न्यूज़15 hours ago

लुधियाना के माइक्रो कंटेनमेंट जोन में सेहत विभाग का फोकस, जानें क्या है रणनीति

सेहत विभाग की ओर से कोरोना संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर अधिक फोकस किया...

लुधियाना न्यूज़15 hours ago

बहू रुबीना के बेटे से तलाक की बात सुन लुधियाना में रहते सास-ससुर के उड़े हाेश, कही यह बात

रिएलिटी शो बिग-बास-14 में लुधियाना के अभिनव शुक्ला और उनकी पत्नी रूबीना दिलैक काफी छाए हुए हैं। सोमवार की रात...

लुधियाना न्यूज़15 hours ago

रात के शादी समारोहाें को अब दिन में बुक करवाएं लोग: पुलिस कमिश्नर लुधियाना

लुधियाना में काेराेना के खतरे से निपटने के लिए लगाए नाइट कर्फ्यू काे लेकर पुलिस ने व्यापक तैयारियां कर ली...

लुधियाना न्यूज़15 hours ago

लुधियाना में रात 10 बजे के बाद निकले तो होगा 1000 जुर्माना, अब नहीं हो सकेंगी नाइट पार्टियां

कोरोना की दूसरी लहर आ चुकी है। अब इसमें संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए एक दिसंबर से रात...

लुधियाना न्यूज़4 days ago

लुधियाना में तेज धूप निकलने से बदला माैसम, ठंड से मिली राहत

महानगर में शनिवार को तेज धूप निकलने से ठंड से राहत मिली।सुबह नौ बजे ही अधिकतम तापमान 19 डिग्री सेल्सियस...

देश4 days ago

गिर गया सोने का भाव, चांदी भी टूटी, जानिए क्या रह गई हैं कीमतें

घरेलू सर्राफा बाजार में सप्ताह के आखिरी कारोबारी दिन शुक्रवार को सोने की हाजिर कीमत में गिरावट दर्ज की गई।...

देश4 days ago

1 दिसंबर से हो रहे ये बदलाव, जानें पूरी डिटेल

अगले माह की पहली तारीख यानि 1 दिसंबर 2020 से कई नियम बदल जाएंगे जिनका प्रभाव सीधे तौर पर लोगों...

बॉलीवुड4 days ago

भारती-हर्ष के अरेस्ट पर बोलीं राखी सावंत, मंत्रियों के बेटे क्यों नहीं पकड़े जा रहे ?

बॉलीवुड के ड्रग्स रैकेट में नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो द्वारा कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति हर्ष लिंबाचिया को गिरफ्तार किए...

देश4 days ago

चंडीगढ़ से दिल्ली और जयपुर जाने के लिए लोग बस अड्डे पर फंसे

चंडीगढ़ से दिल्ली व अन्य स्थानों पर चलने वाली बसें पिछले दो दिनों से पूरी तरह से बंद है। ऐसे...

Trending